Skip to main content

Help Line Mumbai Crime Page News Team 8452925100

9702269504 / 7977194366
E-mail ID: mumbaicrimepage@gmail.com

क्या आप हमारे टीम के मिशन को और भी सफलता-पथ पर   देखना चाहते हो ?
हमारी कानून-व्यवस्था की जो आज बुरी हालत है।भारत की जनता अपनी खुद की नजरो से देख रहे है । उसे देखकर तो हर एक कॉमन-मेन को लगने लगा है, की उसको कभी इन्साफ भी मिल भी पायेगा क्या ? 
लेकीन आज भी इस देश मे इस लाहपरवाह व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाने वाले की कमी नही है.अपनी जान की और परिवारवालो के चिंता किये बैगर अपनी ईमानदारी के पथ पर चलकर अपनी जान भी कई लोग गवांह बैठे है.हर कोई इस व्यवस्था की समस्या से दुर भागना चाहता है.सभी लोग अपनी जान और परिवार भलाई के बारे मे सोचने पर मजबूर है.
MUMBAI CRIME PAGE की टीम के प्रमुख सदस्य श्री.विनोद रा. चव्हाण और श्री.सपन श्रीवास्तव जी ने मिलकर इस व्यवस्था के खिलाफ लीगल तरीके से सामना करने की तयारी उनकी टीम ने कर चूके है. अपराधी को न्याय-व्यवस्था के माध्यम से उनके गुनाहो को सजा मिले और उनके इरादो को रोका जाय. इस पर हमारी टीम ने काफी हद-तक विजय पथ के तरफ है.
MUMBAI CRIME PAGE की टीम और श्री.विनोद रा. चव्हाण और श्री सपन श्रीवास्तव जी ने मिलकर मा.मुंबई हायकोर्ट मे अभी तक( 15 जनहित-याचिका )का फाईल कर चूके है. मा.मुंबई हायकोर्ट ने जनता के समस्या को जनहित-याचिका के माध्यम से गंभीता से लेते हुवे कुछ कडक फेसले लिये जा रहे है.
हमारी मिडिया इस देश की पहली मिडिया है, जो न्यूज के अलावा  समाज के हित के लिये जनहित-याचिका के माध्यम इस व्यवस्था को सुधारने के प्रती अग्रेसर हमेशा से है.
हमारी मिडिया को आज तक कोई भी सरकारी Adverting नही मिलती है. हम अपने निजी बिजनेस से कुछ पैसे बचाकर हमारी मिडिया के लिये और जनहित-याचिका के लिये रकम खर्च करते है.
अगर आप जनता को भी लगता है, की हमारी मिडिया के काम से खुश है, या हमारी टीम के मिशन को आगे चलकर इस तरह सफलतापूर्व रखना चाहते है,तो आप हमे इस मिशन के लिये सहयोग-राशी इस अकाऊंट पर online Transfer  कर सकते है.

Name – Vinod  Rajendra  Chavan.
Account No  -  005010110006376.
IFSC Code  No-BKID0000050

हमारी मिडिया के अब-तक का काम-काज की जानकारी के लिये-
Log On www.mumbaicrimepage.com  


Comments

Popular posts from this blog

पहले सेक्स की कहानी, महिलाओं की जुबानी.

क्या मर्द और क्या औरत, सभी की उत्सुकता इस बात को लेकर होती है कि पहली बार सेक्स कैसे हुआ और इसकी अनुभूति कैसी रही। ...हालांकि इस मामले में महिलाओं को लेकर उत्सुकता ज्यादा होती है क्योंकि उनके साथ 'कौमार्य' जैसी विशेषता जुड़ी होती है। दक्षिण एशिया के देशों में तो इसे बहुत अहमियत दी जाती है। इस मामले में पश्चिम के देश बहुत उदार हैं। वहां न सिर्फ पुरुष बल्कि महिलाओं के लिए भी कौमार्य अधिक मायने नहीं रखता। ये उत्तर अमेरिका की किशोरियों से लेकर दुनिया के अन्य देशों की अधेड़ उम्र तक की महिलाओं की कहानियां हैं, जो निश्चित ही अपने आप में खास हैं। आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही चुनिंदा महिलाओं की कहानी, जो बता रही हैं अपने पहले सेक्स के अनुभव. टोरंटो की एक 32 वर्षीय महिला ने कहा कि जिसके साथ उसने पहली बार यौन संबंध बनाए या यूं कहें की उसने अपना कौमार्य खोया वह एक शादीशुदा आदमी था और उससे उम्र में तीन वर्ष अधिक बड़ा भी था। इसके बाद तो मुझे ऐसे अनुभव से घृणा हो गई।   महिला ने कहा- मैं चाहती थी कि एक बार यह भी करके देख लिया जाए और जब तक मैंने सेक्स नहीं किया था तब तो सब कुछ ठीक थ

Torrent Power Thane Diva Helpline & Customer Care 24x7 No : 02522677099 / 02522286099 !!

Torrent Power Thane Diva Helpline & Customer Care 24x7 No : 02522677099 / 02522286099 बिजली के समस्या के लिये आप Customer Care 24x7 No : 02522677099 / 02522286099 पर अपनी बिजली से सबंधित शिकायत कर सकते है। या Torrent Power ऑफिस जाकर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। या उनके ईमेल id पर भी शिकायत कर सकते हो। To,                            Ass.Manager Torrent Power Ltd चद्ररगन रेसिटेंसी,नियर कल्पतरु जेवर्ल्स,शॉप नंबर-234, दिवा ईस्ट । consumerforum@torrentpower.com connect.ahd@torrentpower.com

#महाराष्ट्र के मा.मुख्यमंत्री #एकनाथ शिंदे जी,मेरा बेटे #कृष्णा चव्हाण #कर्नाटक से #ठाणे रेलवे पर स्टेशन आते वक़्त लोकल रेल्वे से उसका एक्सीडेंट में मौत होकर 3 साल गुजर जाने पर भी आज तक इस ग़रीब माता पिता को इंसाफ नही मिला हैं !!

#महाराष्ट्र के मा.मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे जी,मेरा बेटे कृष्णा चव्हाण #कर्नाटक से ठाणे रेलवे स्टेशन पर आते वक़्त लोकल रेल्वे से उसका एक्सीडेंट में मौत होकर 3 साल गुजर जाने पर भी आज तक इस ग़रीब माता पिता को इंसाफ नही मिला हैं !! आज तक किसी भी रेलवे के तरफ़ से कोई अधिकारी मेरे बेटे के ट्रेन एक्सीडेंट लेकर या कोर्ट केस से संबधित कोई भी इनफार्मेशन मुझे नही दी हैं. मेरे बेटे के मौत को लेकर कोई भी रेलवे डिपार्टमेंट से कानूनी लीगल मदत आज तक नही मिली हैं. #कृष्णा पुनिया चव्हाण को इंसाफ दिलाने के लिए जनता इस न्यूज़ पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और साथ हीं कमेट्स बॉक्स में अपनी राय रखे !!